Home इंदौर तत्काल खड़ी कलम: यमदूत बनकर दौड़ रही नॉन स्टॉप बस… महिला की...

तत्काल खड़ी कलम: यमदूत बनकर दौड़ रही नॉन स्टॉप बस… महिला की मौत के बाद प्रशासन का मातम

3686
244
SHARE


✍🏽सोमेश्वर पाटीदार-प्रधान संपादक👁
📞…9589123578

इंदौर/कुक्षी।सावधान… पूर्व में भी कई बार आगाह कर चुके पर निठल्ले अधिकारियों की लापरवाही के चलते आखिर आज एक महिला की जान चली ही गई। धार जिले के मनावर के कुराड़ा खाल फाटे के समीप नॉन स्टॉप बस क्रमांक: MP-69 P 1082 (डावर) ने गोपाल पिता जाम सिंह की 27 वर्षीय पत्नी को कुचलकर जान ले ली।
सावधान: वह सभी यात्री जो अलीराजपुर-कुक्षी-इंदौर व गुजरात की और प्रस्थान करने वाली नॉन स्टॉप बसों में यात्रा कर रहे है। क्योंकि यह बसें कायदे कानून को जेब में रख कर संचालकों द्वारा खुद की मस्ती में मस्त होकर चलाई जाती है। कहने को तो नॉन स्टॉप बस लेकिन जगह-जगह स्टॉप देकर यात्रियों को बिठाया जाता है। और समय कवर करने के लिए बसें जोरदार रफ्तार के साथ चलाई जाती है। परिणाम स्वरूप इस प्रकार घटनाओं में निर्दोष को जान से हाथ धोना पड़ता। यमदूत बनकर सर्प की तरह लहराते हुए कट बाजी दिखाकर मस्ती में मस्त होकर जाती बसों के कारण आये दिन विवाद की स्थतिया निर्मित होती रहती है। इनके द्वारा क्षमता से अधिक सवारियां भी बिठा ली जाती है और सीट मांगने पर बत्तमीजी व दादागिरी के साथ पेसाते है। मन माफिक किराया वसूलने पर भी बोनस में इनकी गन्दी गालिया खाने को मजबूर यात्री। नियम विरुद्ध संचालित बसों पर जिम्मेदारों की अनदेखी ओर कितनी बड़ी दुर्घटना को जन्म देने का इंतजार करेंगे। सवाल यह उठता है कि, इन पर कार्यवाही न होना प्रशासन की मेहरबानी या लापरवाही का आलम? और क्यों ? कहीं लाभ का विषय तो नही जुड़ा है? क्या दुर्घटना के बाद ही कुंभकर्णीय निंद्रा से जागने के आदि हो गए जिम्मेदार ? जब तक किसी गरीब व निर्दोष का घर न उजड़ जाए?

LEAVE A REPLY