Home इंदौर भारत रत्न दे दो…

भारत रत्न दे दो…

7670
405
SHARE

एक फिल्म आयी थी साजन उसमे सलमान लड़कियों को छेड़ते हुए पकड़े जाता है,तब उसका बाप कादर खान जो वही से गुजर रहा होता है,
उसे अनदेखा कर निकल जाता है…
घर पहुच कर जब सलमान को पता चलता है कि कादर खान ने ये सब देखा और उसे बचाया भी नही
तब कादर खान कहता है कि,”अगर वो कहता की वो लड़की छेड़ने वाले का बाप है तो लोग उसे भी पकड़ कर मारते”

तो कहने का आशय सिर्फ इतना है कि लड़की छेड़ने पर पिता इसलिए साथ नही देता की उसकी भी पिटाई साथ हो जायेगी……

अब जब देशद्रोह का आरोप लगा हो बेटे पर,तब कोन बाप उसे अपनाएगा

दिखावे की देशभक्ति और कुछ नही…

सैफ के बाप के फैसले का स्वागत कर रहे हैं सब के सब,

यही इमोशन है और ये बहुत ही खतरनाक है।

मैं कभी एक पैक लगा के फिर रजनीगंधा खाकर फिर बाबा इलायची खाकर घर आता था तो भैया ठोक देते थे । यहाँ बेटा आतंकवादी बन जाता है और बाप को खबर नही लगती?

कोई भी नयी उम्र का ladka बिना घर के संरक्षण के आतंकवादी बन ही नही सकता।

सैफ के वालिद को ये कभी नही दिखा …….

1 सैफुल्ला बेरोजगार था तो उसके बाप को सैमसंग के तीन मोबाईल डेल का लैपटाप नही दिखा ?

2 सैफुल्ला के पास कोइ आय नही थी तो जब वो आपाचे आरटीआर से चलता था तो बाप ने नही पूछा पैसे कहाँ से आये।

3 सैफ ने बताया अब्बू मेरा सऊदी अरब का वीसा आ गया है तब भी बाप को शक नहीं हुआ ??

4 बेटा बिना नौकरी के महीने मे भोपाल की पांच ट्रिप मारे तब भी शक नही हुआ ???

5 जवान बेटा बिना किसी लड़ाई झगड़े के घर से विमुख हो जाता है तो क्या बाप भाई माँ किसी को दुःख या उसके कही संलिप्तता की आशंका नही होती।

जब बात आतंकवाद की हो तो वहां इमोशन नही होता, यही सैफुल्ला कश्मीर का होता फिर देखते तांडव और पत्थरबाजी का टी ट्वेंटी।

अपना दिमाग लगाइए रोहित सरदाना और रुबिका लियाकत हमेशा सही नहीं होते।

हां तो सैफ के अब्बू देश भक्त हैं मै उनके जज्बे का सम्मान करता हूँ ………………… माई फुट..

भारत रत्न देदो

-पी. श्रीवास्तव

LEAVE A REPLY