Home Uncategorized समस्या है,तो समाधान अवश्य है

समस्या है,तो समाधान अवश्य है

476
31
SHARE

“चलते-चलते”
“समस्या है,तो समाधान अवश्य है”

कुलश्रेष्ठ दंपत्ति हाल ही में छोटे से कसबे से शहर में आकर बसे है। छोटे स्थान पर अपनत्व का भाव और व्यवहारिकता स्वभावगत ही होती है, यह उनके व्यवहार में साफ झलकती है। यंहा उनका अपना कोई रिश्ते नातेदार नही है, सो उन्होंने आज आसपास मेल जोल बढ़ाने और नए घर में आने की ख़ुशी में सुन्दरकाण्ड का आयोजन किया। आयोजन के पश्चात सभी को भोजन हेतु भी आमन्त्रित किया था। अपेक्षानुसार आमन्त्रित लोग नही आए, कुलश्रेष्ठ जी के माथे पर चिंता की लकीरे साफ़ नजर आ रही थी। सभी लोगो को भोजन के लिए आग्रह कर कर के वो थक गए थे, लेकिन स्वभावतः सभी नए पडोसी से अनभिज्ञ होने के कारण सहज ही आग्रह को भिन्न भिन्न बहानो का सहारा लेकर अस्वीकार करते हुए निकल गए, ठीक सामने के घर में रहने वाले कपूर साहब ने स्थिति को भाँपते हुए, कहा “कुलश्रेष्ठ जी चलिए भाई भूख लगी है, यंही अपने कॉलोनी के गार्डन के आगे बस्ती है, हम सभी के यंहा कोई भी कार्यक्रम होता है, तो हम सब थोडा भोजन अधिक बनवाकर बस्ती के बच्चों के साथ भोजन करते है। बाहर के सब लोग भोजन कर चुके है, आइये हम उन बच्चों को बुलाकर लाते है।”

चुटकियो में कपूर साहब ने गम्भीर माहौल को, हल्का कर परिवार को आत्मिक संतुष्टी का रास्ता भी दिखा दिया और जरूरतमन्दों तक छोटी खुशिया भी पंहुचा दी। वास्तव में कोई भी समस्या, समाधान के साथ ही आती है। केवल सकारात्मक सोच के साथ समस्या को समस्या न मानकर उसके समाधान के विषय में पहल करने की आवश्यकता है। जैसे चुटकियो में कपूर साहब ने कुलश्रेष्ठ जी की, इतना भोजन ख़राब होने की चिंता और इतने स्नेह से बुलाने के बावजूद भी किसी के भी भोजन न करने के कारण खराब हुए मन को ठीक कर उससे भी बड़ी ख़ुशी का आसान रास्ता निकाल दिया, वैसे ही हम भी रोजमर्रा के जीवन में ऐसी बहुत सारी समस्याओ से दो-चार होते ही है, बजाय उन समस्याओ का रोना रोने के हम भी तय करें की हर समस्या का समाधान है, केवल सोचने की जरूरत है। हमारी समस्या किसी के लिए अवसर हो सकती है और किसी का अवसर हमारे चेहरे की मुस्कुराहट का कारण बन सकती है। तो आइये अपने माथे की शिकन को अपने होठो की मुस्कान में बदलने का प्रयास करें…

श्रीमती माला महेंद्र सिंह,
एम एस सी, एम बी ए, बी जे एम सी,
सामाजिक कार्यकर्ता,
94795-55503,
Vandematram0111@gmail.com

LEAVE A REPLY