Home इंदौर गायत्री सरोवर सौंदर्यीकरण व ड्रेनेज लाईन के अधूरे कार्यों को लेकर धरना...

गायत्री सरोवर सौंदर्यीकरण व ड्रेनेज लाईन के अधूरे कार्यों को लेकर धरना स्थल पर मंत्री बघेल को सौपा ज्ञापन # चेतावनी : 17 जनवरी तक कार्य व जांच शुरू नही हुई तो मलमूत्र भरे सरोवर में डुबकी व पी कर पाटीदार पुनः उपवास करेंगे… “मलमूत्र से भरे सरोवर में बैठी माँ गायत्री जिम्मेदारों को शर्म नही आती”

517
0
SHARE

 

कुक्षी। लम्बे समय से मां गायत्री मन्दिर सरोवर सौंदर्यीकरण व ड्रेनेज लाईन के अधूरे पड़े कार्यो को पूर्ण कराने और अतिक्रमण के मुद्दे पर संघर्षरत 6 माह से मौन वृत कर रहे सामाजिक कार्यकर्ता सोमेश्वर पाटीदार ने शासन-प्रशासन में बैठे जिम्मेदारों को पत्र में चेतावनी देते हुए लिखा है कि, प्रशासन का ध्यान आकर्षित करने का हरसंभव शांतिपूर्ण प्रयास कर चुका हूं। लेकिन गायत्री सरोवर प्रशासन की प्राथमिकताओं में स्थान नही ले सका। 12 नवंबर 2018 को इसके लिए मुझे भूख हड़ताल का सहारा लेना पड़ा। प्रशासन की व्यस्तताओं को देखते हुए कार्य प्रारंभ करने की शर्त पर मैंने भूख हड़ताल समाप्त कर दी। 6 माह में कार्य पूर्ण करने का वादा सीएमओ द्वारा तहसीलदार कुक्षी की उपस्थिति में किया गया, लेकिन कार्य प्रारंभ करने के नाम पर नाम मात्र का मटेरियल (मुरुम) डाल कर इति श्री कर ली। ऐसा पहले भी कई बार हो चुका है। मै प्रतिदिन रात्रि 8 से10 बजे तक सांकेतिक धरने पर बैठता हूँ। दिनांक 17 दिसम्बर को प्रशासन के वादे का 1 माह होने पर स्मरण पत्र प्रेषित किया। फिर भी प्रशासन अतिक्रमण सहित इस पूरे मुद्दे पर लापरवाही किये जा रहा है। मै पिछले 5 वर्षो से अधूरे पड़े उक्त कार्य को शीघ्र प्रारम्भ कर अब तक हुए कार्यों व विलंबता की जांच की मांग करता हूँ। स्थानीय प्रशासन ने नगर की जनता व हमको मूर्ख समझ रखा है। पाटीदार ने आगे बताया है कि, आगामी 17 जनवरी 2019 को प्रशासन के वादे के 2 माह पूर्ण होंगे, तब तक कार्य प्रारम्भ व जांच की कार्यवाही शुरू नही हुई तो, कालोनियों से आकर मलमूत्र से भरे सरोवर में डुबकी लगाकर व इसी को पी कर पुनः अनिश्चितकालीन उपवास प्रारंभ कर बैठूंगा, साथ ही न्यायालय भी जाकर न्याय की गुहार लगाऊंगा। गायत्री सरोवर की दुर्दशा पर प्रशासन की उदासीनता से जनाक्रोश बढ़ते ही जा रहा है, शांति पूर्ण आंदोलन का रूप बदलने पर मजबूर न करें, जिसकी सम्पूर्ण जिम्मेदारी शासन प्रशासन की होगी। स्थानीय प्रशासन के मुगालते दूर कर अतिशीघ्र कार्य प्रारंभ करवाकर समयावधि में पूर्ण करवाने के साथ ही उक्त मामले में जांच कर दोषियों पर कार्यवाही हेतु दिनांक : 29 दिसम्बर 2018 को क्षेत्रीय विधायक व मंत्री सुरेंद्र सिंह हनी बघेल, नगरिय विकास मंत्री जयवर्धन सिंह, मुख्य सचिव म.प्र. शासन भोपाल, कलेक्टर धार को पत्र प्रेषित किया है, जिसकी प्रतिलिपि एसडीएम व सीएमओ कुक्षी को भी दी गई। पाटीदार ने नगर व क्षेत्र की जनता से उपवास स्थल पर उपस्थित होकर आंदोलन में सहयोग करने का अनुरोध किया ।

* मंत्री बघेल पहुचें धरना स्थल, सौपा ज्ञापन

क्षेत्रीय विधायक व केबिनेट मंत्री सुरेंद्र सिंह “हनी बघेल गायत्री मंदिर धरना स्थल पहुँचे। सामाजिक कार्यकर्ता सोमेश्वर पाटीदार ने सौंदर्यीकरण व ड्रेनेज लाईन की उक्त मामले में पूरी समस्या से अवगत करवाते हुए समर्थकों के साथ मंत्री को ज्ञापन सौपा। उन्होंने मौके से सम्बन्धित अधिकारी को कॉल कर शीघ्र कार्य करवाने की बात कहीं। बघेल ने माँ गायत्री के दर्शन भी किये।

LEAVE A REPLY