Home इंदौर बुढ़िया को चुना लगाने वाला 420- अनीस खान फरार : पुलिस पर...

बुढ़िया को चुना लगाने वाला 420- अनीस खान फरार : पुलिस पर दबाव बनाने के लिए 420 के भाई ने की 181 पर शिकायत *अपराध दर्ज न हो इस लिए खुदकुशी का वीडियो किया था हरामख़ोर ने वायरल* “किसी भी दल्ले की नही चली, प्रकरण हुआ दर्ज…”

98
0
SHARE

 
✍🏽सोमेश्वर पाटीदार-प्रधान संपादक👁
*📞9589123578*

*✒खड़ी कलम…*
“”””””””””””””””‘”‘””””””””””

*सावधान…* शासन-प्रशासन व सामाजिक संगठनों के द्वारा लगातार प्रचार-प्रसार किया जाता है कि, व्यक्तिगत जानकारी व दस्तावेज़ किसी के हाथ में लापरवाही करके नही देना चाहिए साथ ही अनजान व्यक्ति की कॉल आने पर भी जानकारी नही देना चाहिए। बावजूद कई लोग ठगी का शिकार हो जाते है। हालांकि, इस बार जो धार जिले के कुक्षी नगर का प्रकाश में आया है वह कुछ और ही है। यहां पर विधवा महिला से एटीएम से रुपये निकालकर देने के बहाने करीब 1 लाख रुपये की ठगी की गई।

जबरन कॉलोनी निवासी अनीस खान ने बर्तन, साफ़-सफाई व विभिन्न घरों में काम कर जीवन यापन करने वाली विधवा महिला दितली बाई के खाते से रुपये निकाले। दितली बाई को एटीएम स्थल पर अनीस मिला महिला को आने का कारण पूछने के बाद उसने उसे विधवा पेंशन व प्रधानमंत्री आवास योजना के रुपये चेक करने की बात कहीं। अनीश ने दितली बाई को आवास के रुपये नही होना बताया जबकि, 1 हजार है बोलकर निकाले जिसमें भी अनीश ने महिला को 5 सौ रुपये देकर स्वयं ने 5 सौ रख लिए। महिला द्वारा पूछा गया तो कहने लगा तुझे एटीएम से पैसे निकालकर दिए इसलिए रखे। इतना ही नही, हरामख़ोर अनीस ने एटीएम कार्ड महिला को बदलकर दे दिया, बाद में जहाँ महिला काम करती है उस सेठ नीरज गुप्ता से बताया गया और फिर बैंक में जाने के बाद पता चला कि, एटीएम कार्ड अनीश ने बदलकर दे दिया व खाते से धोखेबाजी कर करीब 1 लाख रुपये निकल लिए। जब मामला थाने की और पहुँचने लगा तो कई दल्ले प्रकरण दर्ज न हो, इसलिए सक्रिय हो गए। लेकिन थाना प्रभारी सी बी सिंह ने बुजुर्ग विधवा महिला की फरियाद को गम्भीरता से लेते हुए अपराध क्रमांक- 338/18 , धारा-420 में दर्ज कर ही लिया। उपरोक्त जानकारी के अतिरिक्त एफआईआर में बताया गया कि, अनीस द्वारा 53 हजार रुपये लौटाए भी गए जबकि, करीब 47 हजार रुपये लेकर अब तक रफूचक्कर है।

“उल्टा चोर कोतवाल को डाटे” वाली कहावत भी इस मामले में चरितार्थ हो रही है। वह ऐसे कि, प्रकरण दर्ज न हो इसलिए दबाव बनाने को नर्मदा पुल पर अनीस का एक वीडियो वायरल होता है जिसमें गुनाह कबूल करने के साथ ही फरियादी पक्ष को निशाना बनाकर अब नर्मदा से वापस नही आने की बात करता है। इसके अतिरिक्त खास तो यह है कि, 420 करके फरार अनीश का भाई अनीस की गुमसुदगी दर्ज करवाने थाने पहुँचता है। जब गुमसुदा पर 420 का प्रकरण दर्ज होने की बात पुलिस करती है। तो अनीस का भाई आरिफ़ सिम हेल्पलाईन-181 पर शिकायत करता है कि, पुलिस कार्यवाही नही कर रही। वाह… गज़ब… हरामखोरो अपराधी फरार होता है गुम नहीं… पुलिस प्रशासन को ऐसे कपटी को अतिशीघ्र गिरफ्तार कर अपराधियों के सुधार गृह जेल भेजना चाहिए। इस प्रकार की घटनाओं का शिकार होने से पहले ही अनपढ़ हो या पढ़े-लिखे सभी को सावधानी रखनी चाहिए।

LEAVE A REPLY