Home इंदौर “जनादेश पर नज़र” की ख़बर का तुरन्त असर… जिम्मेदारों की खुली आंखे...

“जनादेश पर नज़र” की ख़बर का तुरन्त असर… जिम्मेदारों की खुली आंखे : भारतीय नक्शे की प्रतिमा का पुनः ताबड़तोल निर्माण किया जारी… “निर्माण के साथ ही दोषियों पर भी हो अतिशिघ्र उचित कार्यवाही, आईना दिखाया तो पुनः निर्माण नही तो मंच सिर्फ बहाना था”

20044
745
SHARE


✍🏽सोमेश्वर पाटीदार-प्रधान संपादक👁
*www.janadeshparnazar.com*
*📞9589123578*

*✒खड़ी कलम…*
“”””””””””””””””‘”‘””””””””””

*विडम्बना…* तो देखो यारों… राष्ट्रीय पर्व आते ही देशभक्ति के तराने भर सुन लेने या सुनाने से देशभक्ति नही होती। निजी स्वार्थ से ऊपर उठकर राष्ट्र की आन-बान-शान के लिए बाहरी शक्तियों से लड़ने के लिए हर हाल में सरहद पर जवान तैनात है वैसे ही , आंतरिक व्यवस्था व राष्ट्रीय मान- सम्मान के लिए भारतीय नागरिक की भी जिम्मेदारी होती है। जागरूक भाजयुमो के नेता गौरव मोनू पाटीदार ने भी गत दिवस प्रमुखता से प्रकाशित “जनादेश पर नज़र” द्वारा खबर भारतीय नक्शे की प्रतिमा को अपमानित कर राष्ट्रद्रोही हरकत को संज्ञान में लेते हुए अपने स्तर से आवाज़ को उठाई थी।

खबर प्रकाशन के बाद कल से ही हलचल मचते हुए ताबड़तोल निर्माण की बात सामने आने लगी। जब सुबह हमने शासकीय बालक उत्कृष्ट विद्यालय कुक्षी पहुँच कर देखा तो भारतीय नक्शे की प्रतिमा पुनः निर्मित करने की कार्यवाही जारी थी। मतलब नही लिखते तो ठंडे बस्ते में मनमानी पर कतिपय लोग उतारू थे।

सवाल अब यह उठता है कि, मंच के ऊंपर भारतीय नक्शे की प्रतिमा निर्माण करने वाले जिम्मेदार लोग अब मंच के बजाय नीचे सिर्फ भारतीय नक्शे की प्रतिमा मात्र निर्माण कर इतिश्री क्यों कर रहे ? एक ही दिन में कोनसा फंड आ गया या शासकीय खानापूर्ति हो गई ? क्रिकेट की गेंद अब उसी के पास निर्मित होने से प्रतिमा को नही लगेगी क्या ग्यारंटी ? और सुरक्षा के लिए कुछ उपाय अब करेंगे तो तब क्यों नही किये थे ? जिम्मेदार अधिकारी स्वयं दोषी पर अतिशिघ्र कार्यवाही करेंगे या हम भारतीय नागरिक होने के नाते भारतीय नक्शे का अनादर करने पर कानूनी कार्यवाही करें ?

साथ ही निर्माणाधीन प्रतिमा में जिन बच्चों के हाथों में पेन किताब होनी चाहिए वहीं बाल श्रमिक कार्य को अंजाम देते देखे गए। अब सही क्या है, गलत क्या है, जिम्मेदार अतिरिक्त दिमाग लगाने के बजाय ए सी रूम छोड़कर मैदान में देखे तो पता चलेगा कि, अधीनस्थ कितनी डिग्री का तापमान लिए काम कर रहे। अतिशिघ्र कार्यवाही के इंतजार में जनादेश…

LEAVE A REPLY