Home इंदौर पाखंडी संत लोकेशानंद भक्त की ठुकाई से फड़फड़ाया- विधायक रंजना बघेल ना-लायक...

पाखंडी संत लोकेशानंद भक्त की ठुकाई से फड़फड़ाया- विधायक रंजना बघेल ना-लायक व कुक्षी टीआई को गुंडा बताया : पुलिस को रंगदारी दिखाने वाले महेश गुप्ता की थाना प्रभारी ने कर दी थी ठुकाई _*_ तलाक का नोटिस तामील करवाने में आना-कानी व घरवाली के मायके में घुस मारपीट कर धमकाया, प्रकरण दर्ज _* _ ढोंगी संत के चक्कर में पड़ने से घरवाली से तकरार व पुलिस को दिखा रहा था ऊंची पहुँच का चमत्कार “विधायक रंजना बघेल को आगे आकर ढोंगी लोकेशानंद का पाखण्ड उतारना चाहिए”

6804
231
SHARE

✍🏽सोमेश्वर पाटीदार-प्रधान संपादक👁
*📞9589123578*

*✒खड़ी कलम…*
“”””””””””””””””‘”‘””””””””””

*सावधान…* उन अवसर वादी लम्बी दाड़ी जटाधारी व वीवीआईपी सर्वसुविधा युक्त धर्म के ठेकेदारों से… जो स्वयम्भू ईश्वरीय सत्ता का खुद को अंश बताते हुए जन सामान्य से अपना निजी हित साधने के लिए नित नए पाखंड रचकर साधु- संत होने का दावा करते हुए अपनी दुकान चला रहे। दुनिया भर को धर्म की जय व धर्म का नाश प्राणियों में सद्भावना व विश्व का कल्याण का उपदेश देने वाले नकाब पोश स्वयंभू संतो का नकाब नोंचे तो इनकी सही औकात फटीचर वाली सामने आ जाये। इन्हीं हरामखोरों के कु-कुकर्मो के कारण संत समाज बदनाम होता है, जो सही रूप में समाज के मार्ग दर्शक है।

वैसे तो कईं साधु के वेश में छुपे भारतीय समाज को भ्रमित करने वाले पाखंडियो के पाखंड उतर चुके है, कोई जेल की हवा खा रहा तो कोई तैयारी में है… ऐसे ही आधी रोटी में दाल लेने पर एक पाखंडी का ना-लायक चेहरा दिखाई देने लगा, जो इंदौर जिले के ग्राम सिंदोड़ा धार रोड़ पर अपनी दुकान श्री नारायण भक्ति पन्थ के नाम चला रहा है, जिसे प.पु. ब्रम्हस्वरूप संतश्री लोकेशानंद जी महाराज बताया जा रहा। लेकिन असल में इनके विचार जो एक मामले में सामने आए वह सिर्फ और सिर्फ पाखंडी साबित करता है।

प्रकाश में मूल रूप से मामला यह सामने आ रहा है कि,पिछले दिनों धार जिले के कुक्षी के दाताहरि चौक क्षेत्र में अलीराजपुर निवासी महेश गुप्ता को कोर्ट का एक नोटिस तामिल करवाने पुलिस पहुँची। जिसको लेकर महेश गुप्ता आना-कानी करते हुए नोटिस स्वीकारने से मना करता रहा। और बात बढ़ते-बढ़ते पुलिस को महेश रईसगिरी व ऊंची पहुँच का डर दिखाते हुए बदत्तमीजी करने लगा। इस बीच नोटिस भी उसके द्वारा लेने-देने में फट गया। जब मामला थाना प्रभारी सीबी सिंह की संज्ञान में आया, तो स्वयं घटना स्थल पहुँचकर महेश गुप्ता को समझाइस देने लगे लेकिन बात नही मानी, वहां पहुँची पत्नी संजना से भी अपशब्द बोलते हुए अपनी रंगदारी थाना प्रभारी को भी दिखाने लगा। फिर क्या सीबी सिंह ने पुलिस की इज्जत नीलाम होते देख, वहीं से ठुकाई-कुटाई करते हुए थाने पर ले गए।

पुलिस थाना कुक्षी में मुखर्जी मार्ग रहने वाली पत्नी संजना गुप्ता ने वैसे तो पूर्व में भी प्रकरण दर्ज करवाया हुआ है किंतु ताजी घटना को लेकर भी पति महेश गुप्ता के खिलाफ एफआईआर दर्ज करवाई। जिसमें लिखा गया है कि, अलीराजपुर निवासी महेश गुप्ता से 7 वर्ष पूर्व संजना की शादी हुई थी। लेकिन पति लगभग डेढ़ वर्ष से साधु बन गया व मेरे पास आना-जाना बंद कर दिया। तलाक के लिए कोर्ट में केश किया है। जिसको लेकर महेश गुप्ता दरवाजें पर लात मारकर अंदर घुसा व मेरे साथ व पिता राजेन्द्र गुप्ता के साथ हाथ मुक्कों से मारपीट की। व नग्गी-नग्गी गालियां देकर बोला कि, तुम लोगो ने जो केश मेरे ऊपर लगा रखे वह वापस लो। नही तो जान से मार दूंगा।

पुलिस लेकर नोटिस तामिल करवाने मामा ससुर के घर दाताहरि चौक पहुँची, जहां उपरोक्त घटना भी निर्मित हुई। साथ ही इस और से गुजर रही विधायक रंजना बघेल से भी संजना ने गुहार लगाई बताया जा रहा, जिसे बघेल ने गम्भीरता पूर्वक सुनकर आश्वस्त किया था।

इस घटना में आरोपी महेश गुप्ता का संरक्षण करते हुए भक्त की ठुकाई से विचलित नारायण भक्ति पंथ के इस पाखंडी लोकेशानंद ने वायरल मेसेज के अनुसार एक बैठक भी रखी। जिसमें यह भी लिखा गया कि, पन्थ के महेश गुप्ता को विधायक रंजना बघेल ने कुक्षी थानाप्रभारी द्वारा पिटवाया। धमकी पूर्वक वायरल मेसेज में यहाँ तक लिख दिया गया है कि, विधायक रंजना बघेल ना-लायक है…ना-लायक है… ना-लायक है… विधायक पद से बर्खास्त करो व कुक्षी टीआई गुंडा है… गुंडा है… गुंडा है… इनके द्वारा एक तय तारीख तक घटना स्थल पहुँचकर सभी लोगो के सामने विधायक व टीआई माफी मांगे व नहीं तो दोनो को उग्र दंड देकर अपमान का प्रतिशोध लेने की बात भी लिखी गई।

वायरल मेसेज में आगे लिखा है कि, संजना बहुत घिनोनी षड्यन्त्रकारी महिला है,जिसके दिमाग मे केवल पैसे का भुत है। इस मामले में मनावर विधायक रंजना बघेल व संजना मिली और विधायक उसके बहकावे में आ गई। फिर विधायक ने कुक्षी टीआई को मिलकर 20 नवम्बर की रात पन्थ सेवक महेश को पिटवाने का भी लिखा गया।

इस प्रकार नारी को अपशब्द व भारतीय संविधान से भी ऊपर उठकर विधायक व टीआई को चेतावनी देते हुए धमकाते हुए माफी मांगने का तो लिखा ही, साथ में ना-लायक व गुंडा, घिनोनी षड्यन्त्रकारी महिला जैसे शब्द कहने वाला सन्त कैसे हो सकता ? यह तो अपनी जांग उघाड़ कर खुद ही ढोंगी-भोगी होने का परिचय दे रहा। ऐसे कपटीयों से सावधान रहना चाहिए। साथ ही शासन- प्रशासन में बैठे जनप्रतिनिधि नेता भी इनके चक्कर में पड़कर संरक्षण न करें।

पूरी रिपोर्ट थाना से जानकारी व वायरल मेसेज के आधार पर प्रकाशित… तथ्यात्मक ख़बरें बढ़ते रहने के लिए बने रहे *”जनादेश पर नज़र”* के साथ…

LEAVE A REPLY