Home इंदौर संघ-भाजपा की खाल पर लगते जा रहे दाग ही दाग, लाइलाज़ बीमारी...

संघ-भाजपा की खाल पर लगते जा रहे दाग ही दाग, लाइलाज़ बीमारी पर सभी दवाईयां बे-असर : भृष्टाचार, बदजुबानी या रंगीन सीडी में उलझते ही जा रहे भाजपाई व संघी_*_ इनका छोटे से लेकर बड़ा व्यक्ति देशभक्त व देशद्रोही का प्रमाण-पत्र बाँटने में लगा # फुर्सत मिले तो सीडी वाले मंत्री, विधायक वेलसिंह व सोशल मीडिया से आरोपित बाग के “जी…..जी” पर भी गौर फरमाएं

4323
195
SHARE

✍🏽सोमेश्वर पाटीदार-प्रधान संपादक👁
📞9589123578

*✒खड़ी कलम…*
“”””””””””””””””‘”‘””””””””””
*संघ-भाजपा* का विरोधी नही हूँ मित्रों… में तो सिर्फ संघ व भाजपा के आदर्श-संस्कारों-मूल्यों के विपरीत जाने वाले खुद के ही खोल में छुपे लोग उस पर दाग लगाकर जो खोल रहे आएदिन पोल, उस कृत्य को पत्रकारिता धर्म के अनुसार जनसामान्य के सामने प्रस्तुत कर रहा हूँ। वर्तमान में इन कथित हिंदूवादी संगठनों को चिंतन करने की आवश्यकता है कि, हिंदुहित व राष्ट्रहित से कितना सरोकार था। व अब है।

विपक्ष में रहते हुए भाजपा-संघ का क्या उद्धेश्य व भूमिका थी। और राज्यों में एक दशक से अधिक व केंद्र में अटलबिहारी के बाद पिछले 3 वर्षों से अधिक समय से पूर्ण बहुमत के साथ सत्ता में काबिज होते हुए। किस मुकाम पर, किस भूमिका में खड़े है ? सत्ता में आते ही उद्देश्य व भूमिकाएं अब स्पष्ट कु-प्रकाशित हो रही है। अगर हिंदुहित की ही बात करें तो, सत्ता के पूर्व के लगभग एजेंडे अब सत्ता के नशे में डूबते नज़र आ रहे है।

फिलहाल में कुछ बिन्दुओ को प्रकाशित कर रहा हूँ जो संघ-भाजपा की नींव को मजबूत करने वाले कर्मठ लोगो को भी संर्मिन्दगी महसूस करवाने पर आमादा है। भाजपा संगठन, संघ, या सत्ता के हिस्से ही नही, आश्रमों में बड़ी जटा-दाड़ी रखकर स्तरहीन गालियों से खुद को ठोंगी होने का परिचय देने वाले पाखंडी भी बेख़ौफ़ संघ-भाजपा ही नही, संविधान व नीति के विरुद्ध जा रहे।

इन दिनों चर्चित मामलों में संजय जोशी, पूर्वमंत्री राघवजी, लक्ष्मीकांत शर्मा, मन्दसौर के पूर्व जिलाध्यक्ष कारूलाल सोनी के बाद शिवराज मंत्रीमण्डल के एक और मुख्यमंत्री के चहेते माने जाने वाले मंत्री की सेक्स लीला की सीडी मामले में विपक्ष नेता ने स्तीफा मांगा वही, बताया जा रहा सीडी शिवराज व केंद्रीय नेतृत्व तक पहुँचा दी गई है। कथित मंत्री पर भाजपा की युवा नेत्री से नजदीकियां रख अनुषांगिक संगठन में पद दिलवाने व उसे अधिकतर साथ मे रखने के साथ ही वरिष्ठ जनों की उपेक्षा का आरोप भी है। जिसके बाद हुए सीडी कांड ने राजनेतिक गलियारों में भूचाल ला दिया। विस्तार होने के वक़्त मंत्रीमण्डल से उक्त रंगीन मंत्री को बाहर का रास्ता दिखाए जाने की भी खबर है।

धार जिले में देखा जाए तो भाजपा के सरदारपुर विधायक वेलसिंह भूरिया लगातार बदजुबानी करते हुए विवादों में घिरे रहता है। पीड़ितों व पत्रकारों की मौजूदगी में एनकाउंटर की बात करता है। अब तक लगाम न लगने से पिछले दिनों ही प्रकाशित खबरों से बोखलाए विधायक ने सार्वजनिक मंच से पत्रकारों पर विवादित बोल बोलते हुए, अमर्यादिता का परिचय दिया। उक्त बातों को लेकर जिले भर के पत्रकार ज्ञापन व धरने के साथ आक्रोशित हो उठा।

इसी के साथ एक फेसबुक अकाउंट से बाग क्षेत्र में भी हलचल मची हुई है। इस अकाउंट का शिकार पूर्व नगर भाजपा अध्यक्ष को भी अपना पद गवांकर होना पड़ा था। इसके बारे में पोस्ट हुई थी कि, किसी शासकीय कर्मचारी को दबाव बनाकर शारीरिक संबंध स्थापित कर हवस का शिकार बनाना चाहता था। जिसकी सम्बन्धित महिला से राजनीतिक धौस व स्वार्थ सम्बन्धित मेसेंजर पर चर्चा होने वाले मेसेज जस की तस स्किन शॉट लेकर पोस्ट कर दिए थे। जिसके बाद भारी बदनामी व भयभीत होकर पुलिस के माध्यम से उक्त अकाउंट को बंद करवाया गया।

उक्त अकाउंट के बन्द होने के पश्चात पुनः नया फेसबुक अकाउंट चर्चा में आया। जिसमें पिछले माह हुई पोस्ट व कमेंट्स से निचोड़ निकलकर यह आ रहा है कि, बाग नगर के तृतीय वर्ष शिक्षित संगठन का स्वयंसेवक जो समाज को जोड़ने की बात करते है। हिंदुत्व की बात करते है। हिंदुत्व सर्वोपरि है। एक स्वयंसेवक के लिए शिविर किसी तीर्थ स्थल से कम नही। वहीं जब अन्य स्वयंसेवक उसी तीर्थ स्थल में प्रस्थान करता है तो, उसकी इस यात्रा को बाधित करता है क्योंकि यह शासकीय सेवा में कार्यरत है। और आरटीआई लगाकर इतने दिनों तक कहा थे ? इसके लिए जवाब मांग कर इनकी तनख्वाह काटी जाए। ऐसे विचार रखता है। और कमेंट्स में इस व्यक्ति के नाम जानने के लिए किसी ने लिखा तो जवाब आया। “जिनके आगे जी, जिनके पीछे जी, जिन्हें आप सभी कहते है जी……जी उन्हीं की बात हो रही है” उक्त हिन्दू संगठन से जुड़े व्यक्ति पर गो तस्करी वालों से पैसे लेने व ऐसे लोगो को बड़े पदाधिकारी संगठन से स्वतंत्र करें, बात लिखी गई। उक्त पोस्ट पर कहीं न कहीं सच्चाई की तरह दिखने का कारण कमेंट्स व प्रस्तुति से भी लगता है। जिम्मेदारों को इसकी तह तक जाना चाहिए। फिलहाल तो सोशल मीडिया से प्रकाशित हो रही है।

इन तमाम घटनाक्रमों की वजह से आएदिन संघ-भाजपा की फजीहत हो रही है। मेरी कलम से घायल होकर अंधभक्त बदजुबानी करने के बजाय गंभीरता से चिंतन कर, सुधार की ओर आगे बड़े… क्योंकि राष्ट्रहित सर्वोपरि…

LEAVE A REPLY