Home कुक्षी पर्युषण पर्व हर्षोल्लासपूर्वक संपन्न हुआ : वरघोडा निकाला

पर्युषण पर्व हर्षोल्लासपूर्वक संपन्न हुआ : वरघोडा निकाला

744
98
SHARE


कुक्षी : कुक्षी नगर में पर्वाधिराज पर्युषण उल्लासपूर्ण रूप से संपन्न हुआ। प्रतिदिन पाँचों जिनमंदिर में मनोहारी अंगरचना समाजजनों द्वारा बनाई गई। प्रति दिन बडी संख्या में श्रद्धालुओं ने जिनमंदिर में भक्ति भाव से प्रभु प्रतिमा का पूजन किया। पर्युषण के प्रथम तीन दिन अष्टान्व्हिका व्याख्यान का वाचन किया गया प्रथम दिवस दोपहर में चेत्यप्रवाडी निकाली गई। तृतीय दिवस कल्पसुत्र को श्रीसंघ सहित घर पधरामणी का लाभ श्रीमान बाबूलालजी सोभागमल जी ने लेकर अपने निज निवास पर श्रीसंघ सहित कल्पसुत्र की पधरामणी की पश्चात चतुर्थ दिन कल्पसुत्र का वाचन प्रारंभ किया। चतुर्थ दिन व्याख्यान में अ.भा. राजेन्द्र जैन नवयुवक परिषद के कार्यकर्ताओं ने मिलकर पालनाजी पधराने का लाभ लेकर रात्री प्रतिक्रमण पश्चात पालनाजी को ढोल बाजों के साथ श्रीसंघ के साथ नगर भ्रमण करवाया पश्चात जुलूस के साथ बड़ा उपाश्रय में पालनाजी को रखा गया एवं भक्ति का आयोजन किया गया। भादवा सुदी एकम के दिन कुक्षी जैन श्रीसंघ की धरोहर श्री वर्धमान जैन हाई स्कूल के विद्यार्थियों एवं समाजजनों के साथ प्रभातफेरी निकाली गई एवं स्कूल के होनहार विद्यार्थियों को पुरस्कार से सम्मानित किया गया। भगवान महावीर स्वामी के जन्म वाचन समारोह में चोदह स्वप्न दर्शन एवं उन चौदह स्वप्नों को देखने वाली त्रिशला माता के दर्शन श्रीसंघ को कराने का लाभ लाभार्थियों ने लिया पश्चात संघरत्न श्री मनोहरलाल जी पुराणिक के मुखारविंद से जन्म वाचन का श्रवण किया। जन्म वाचन पूर्ण होने के बाद श्रीसंघ को क्षमापना ग्रुप के लाभार्थियों द्वारा केशर के छापे लगाये गये एवं प्रभु की महाआरती उतारी इस शुभ अवसर पर श्रीसंघ का साधर्मिकवात्सल्य का आयोजन किया गया। प्रतिदिन तरूण परिषद के सदस्यों एवं अपूर्व पुराणिक के सहयोग से ज्ञानवर्धक एवं मनोरंजक कार्यक्रमों का आयोजन किया जिनमें स्वस्तिक नंदावर्त महापूजन मंडल गहूंँली प्रतियोगिता मुख्य है संवत्सरि की पूर्व रात्री में धार्मिक तंबोला का आयोजन किया गया। संवत्सरिक महापर्व पर समस्त श्रीसंघ के द्वारा व्याख्यान में संवत्सरिक दान दिया दोपहर में चैत्यप्रवाडी के साथ पाँचों जिनमंदिर के दर्शन के साथ मनोहारी अंगरचना के दर्शन का लाभ लिया। सायंकाल संपूर्ण श्रीसंघ के साथ सामूहिक रूप से संवत्सरिक प्रतिक्रमण किया एवं आपस में क्षमायाचना कर क्षमापना पर्व मनाया। पर्युषण पर्व पर नगर में तपस्याओं की झड़ी लग गई जिसमें 11 अट्ठाई तेला बेला उपवास सहित सैकड़ों की संख्या में तपस्याएं हुई ईन सभी तपस्वियों एवं श्रीसंघ को शा. मगनलालजी बोंदरजी परिवार ने लाभ लेकर पारणा करवाया। पर्युषण पर्व के संपन्न होने पर पंचमी को वरघोडा निकाला गया जिसमें परमात्मा की प्रतिमा दादा गुरुदेव श्रीमद्विजय राजेन्द्रसूरीश्वरजी महाराज एवं पुण्य सम्राट जयंतसेनसूरीश्वरजी की फोटो की अक्षत श्रीफल से गहूंँली की गई। रथयात्रा नगर के मुख्य मार्गों से होते हुए बडा उपाश्रय में पहुची जहाँ संघरत्न मनोहरलालजी पुराणिक के मुख से मांगलिक श्रवण किया एवं श्रीसंघ की तीनों संस्था शान्तिनाथ गोडीदास जैन पेढी तालनपुर तीर्थ ट्रस्ट एवं वर्धमान जैन हाई स्कूल कमेटी के पदाधिकारियों ने खड़े होकर श्रीसंघ के समक्ष क्षमायाचना की पश्चात नवयुवक परिषद के राष्ट्रीय महामंत्री रमेश धारीवाल ने श्रीसंघ की तरफ से संघरत्न मनोहरलालजी पुराणिक एवं पुराणिक परिवार द्वारा पर्युषण पर्व एवं अन्य धार्मिक आराधनाऐं संपन्न करवाने के लिए आभार व्यक्त किया। रात्रि में तरूण परिषद के द्वारा धार्मिक गरबा का आयोजन किया गया।
उक्त जानकारी – अपूर्व पुराणिक ने दी

LEAVE A REPLY