Home इंदौर क्रांतिकारी सम्‍मेलन से पहले पाटीदार नेता हार्दिक पटेल समर्थकों के साथ पुलिस...

क्रांतिकारी सम्‍मेलन से पहले पाटीदार नेता हार्दिक पटेल समर्थकों के साथ पुलिस हिरासत में

4327
259
SHARE

किसानों व पाटीदार समाज में आक्रोश, महेन्‍द्र पाटीदार बोले दबाई जा रही है पाटीदारों की आवाज

पाटीदार नेता हार्दिक पटेल व उसके साथियों की पुलिस ने अहमदाबाद के उमिया धाम के बाहर से धरपकड़ की है। हार्दिक यहां पत्रकार वार्ता करने पहुंचे थे लेकिन पुलिस ने उन्हें भीतर जाने से रोक दिया तो वे मुख्य दरवाजे के बाहर धरने पर बैठ गए। पुलिस का कहना है कि उमिया धाम ट्रस्ट ने उनके 5 अगस्त को होने वाले सम्मेलन की मंजूरी रद्द करते हुए उनके यहां आने पर रोक लगाई है। पाटीदार आरक्षण आंदोलन समिति पिछले दो साल से गुजरात में पाटीदार समाज को ओबीसी के तहत आरक्षण देने की मांग को लेकर आंदोलन कर रही है। यूपीएससी सहित विविध परीक्षाओं में उत्तीर्ण होने वाले मेधावी छात्र छात्राओं के सम्मान के लिए समिति ने 5 अगस्त को अहमदाबाद के सरखेज गांधीनगर हाइवे पर स्थित पाटीदार संस्था उमिया धाम ट्रस्ट के मैदान पर समारोह को आयोजन किया था। गुरुवार दोपहर हार्दिक पटेल, अपने साथी दिनेश बामणिया, प्रवक्ता वरुण पटेल सहित कई समर्थकों के साथ पूर्व आयोजित पत्रकार सम्मेलन के लिए पहुंचे थे लेकिन पुलिस ने उन्हें दरवाजे पर ही ये कहते हुए रोक दिया कि ट्रस्ट ने उनकी मंजूरी रद्द कर दी है। उनका कहना है कि ट्रस्ट ने इस आशय की एक अर्जी पुलिस को भेजी है। जिसके बाद हार्दिक अपने समर्थकों के साथ दरवाजे के बाहर धरने पर बैठ गए। कुछ देर बाद पुलिस ने करीब 10 समर्थकों के साथ हार्दिक को हिरासत में ले लिया। राजद्रोह के मामले में करीब नौ माह जेल में रहने के बाद हार्दिक जुलाई 2016 से जमानत पर है तथा गुजरात में उनके खिलाफ दर्जनों मामले दर्ज हैं। अक्टूबर 2015 में पहली बार उन्हें राजकोट से गिरफ्तार किया गया था। बताया जा रहा है कि पोस्टर व बैनरों में समारोह को क्रांतिकारी कार्यकर्ता सम्मेलन के रुप में प्रचारित करने के बाद उमिया धाम ने यह कदम उठाया है। हार्दिक का कहना है कि आजाद भारत में क्रांतिकारी शब्द से किसी को क्या आपत्ति हो सकती है। उमिया धाम पाटीदार समाज के दान से बना है तथा भाजपा समर्थक कुछ ट्रस्टी व भाजपा के पाटीदार विधायक उन्हें यहां आने से नहीं रोक सकते। गौरतलब है कि भाजपा विधायक बाबू जमना दास पटेल व नारण भाई पटेल ने बुधवार शाम को उमिया धाम में ट्रस्ट के अन्य सदस्यों के साथ बैठक कर हार्दिक के समारोह पर आपत्ति जताई थी। वही उनकी हिरासत में लेने के बाद पटेल नवनिर्माण सेना के राष्‍ट्रीय उपाध्‍यक्ष महेन्‍द्र पाटीदार, पटेल नव निर्माण सेना उदयपुर के जिलाध्‍यक्ष एंव एमपी प्रभारी गेहरीलाल डांगी, राजस्‍थान के प्रभारी श्‍याम पाटीदार, वंदेमातरम युवा संगठन के अनील डांगी, अध्‍यक्ष सुनील सुथार, नीमच नवीन पाटीदार, शाजापुर आशिष पेटल, उयपुर संभाग के अध्‍यक्ष महेन्‍द्र सिंह राणावत, प्रकाश डांगी, ललीत डांगी, अर्जुन डांगी, हेमेन्‍द्र गुर्जर ने घोर निंदा की है  पटेल नवनिर्माण सेना के राष्‍ट्रीय उपाध्‍यक्ष महेन्‍द्र पाटीदार ने कहा कि कार्यकर्ता सम्‍मेलन से पहले आवाज दबाने की जो हरकत सरकार कर रही है सही नही है पहले ही मध्‍यप्रदेश में किसानों की आवाज दबाई गई जिसका नतीजा ये रहा कि किसानों को गलियों से मार दिया गया अब जो किसानों, दलिता व गरीब की आवाज उठा रहा है उसकी आवाज दबाई जा रही है  डांगी ने बताया कि अहमदाबाद में पटेल नवनिर्माण सेना एंव गुजरात पाटीदार अनामत आंदोलन के तत्‍वाधान में अहमदाबाद में क्रांतिकारी कार्यकर्ता सम्‍मेलन से पहले हार्दिक पटेल को हिरासत में लेना ये लोकतंत्र की हत्‍या है उन्‍हे क्‍यों हिरासत में लिया गया ये पुलिस स्‍पष्‍ट करें और जल्‍द रिहा किया जायें नही तो एमपी, राजस्‍थान, गुजरात में जिला मुख्‍यालय पर आंदोलन किया जायेगा।

LEAVE A REPLY