Home इंदौर किसानों की मौत के विरोध में कांग्रेस ने किया शवासन

किसानों की मौत के विरोध में कांग्रेस ने किया शवासन

937
30
SHARE

भोपाल।भले ही आज देशभर में योग दिवस मनाया जा रहा है, लेकिन विपक्ष और भारतीय किसान यूनियन इसका विरोध कर रहे है। प्रदेश भर में आज कांग्रेस ने मंदसौर घटना की निंदा करते हुए और किसानों की मौत को लेकर शवासन किया।राजधानी भोपाल में प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष अरुण यादव समेत कांग्रेस के कई वरिष्ठ नेताओं ने विरोध में शवासन किया।

कांग्रेस का आरोप है कि किसानों की मौत के बाद भी सरकार लगातार बेपरवाह हो गई है।इसके लिए हम सरकार का विरोध करते है औऱ मांग करते है की जल्द से जल्द किसानों की मांगे पूरी की जाए। किसान संगठनों ने भी कांग्रेस के इस विरोध प्रदर्शन का समर्थन करते हुए शवासन किया। भारतीय किसान महासंघ ने भी राजधानी में शवासन कर विरोध जताया।

बता दें कि किसान आंदोलन के दौरान मंदसौर पुलिस फायरिंग में हुई किसानों की मौत के बाद से कांग्रेस लगातार सरकार पर हमला बोल रही है, विरोध प्रदर्शन कर रही है।इसी विरोध के चलते आज राजधानी में राजधानी में शवासन किया गया।

गौरतलब है कि भारतीय किसान यूनियन ने भी मोदी सरकार पर आरोप लगाए है और कहा है कि केंद्र सरकार की गलत नीतियों की वजह से किसान आज मरणावस्था में पहुंच गया है। एक प्रस्ताव पारित कर केंद्र सरकार को किसान विरोधी करार दिया और केंद्र की किसान विरोधी नीतियों के खिलाफ 31 जुलाई को लखनऊ में किसान महापंचायत करने और पंचायत के बाद दिल्ली कूच करने का फैसला लिया।

भारतीय किसान यूनियन के राष्ट्रीय अध्यक्ष चौधरी नरेश टिकैत ने बताया, “केंद्र की मोदी सरकार हर मोर्चे पर नाकाम साबित हो रही है। किसानों के भले के लिए केंद्र सरकार ने जितने भी वादे किए थे, उनमें से एक भी वादा पूरा नहीं किया गया है।”

टिकैत ने कहा कि बैठक में केंद्र सरकार के खिलाफ आरपार की लड़ाई लड़ने का एलान किया गया है। इतना ही नहीं बैठक में एक प्रस्ताव भी पारित किया गया जिसमें मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के खिलाफ हत्या का मुकदमा दर्ज करने, स्वामीनाथन की रिपोर्ट लागू करने, राज्यों में बिजली और खेती से जुडे़ हुए उपकरणों की कीमत वापस लेने की केंद्र सरकार से मांग की गई।

LEAVE A REPLY