Home इंदौर उम्मीद-9…एसडीएम कुक्षी : ये लो निकल गई हवा…ज्ञान बाटने से पहले चेक...

उम्मीद-9…एसडीएम कुक्षी : ये लो निकल गई हवा…ज्ञान बाटने से पहले चेक कर ले, अतिक्रमण मुहिम हुई नोटंकी साबित…मलबा भी नही उठा पाया प्रशासन

9835
254
SHARE

कुक्षी।सब्जी में आईएएस मशाले का तड़का तो नही लगा पर झोलिया जरूर बन गया। जी हां, वही झोलिया मतलब झोल… काम शुरू करके छोड़ दो। ऐसे ही कई कार्य कुक्षी में शुरू होने के बाद झोल खा रहे और जिम्मेदार नए झोल देने की तलाश में रहते की अगला झोल कोनसा। अभी हम कुछ ही झोल की बात करे तो पूरे तामझाम के साथ एसडीएम रिशव गुप्ता अतिक्रमण मुहिम लेकर आये और चाटुकार लोगो को ऐसा लगा कि, अब तो छोटा हो या बड़ा किसी की खेर नही सारा अतिक्रमण हटना तय। लेकिन चाटुकारो की उम्मीद पर तब पानी फिर गया जब अतिक्रमण मुहिम की दूसरे ही दिन हवा निकल गई और मुहिम तो दूर अब तक मलबा भी नही हटा पाए ज़नाब जो अधूरा करके छोड़ा था उसका। यह में पहले ही लिख चुका हूँ कि, भेदभाव पूर्ण अब तक कार्यवाही होती आई है दबंगो की दुम दबाने का साहस नही इनमे जो नगर के बड़े अतिक्रमण तोड़ कर निष्पक्ष कार्यवाही कर दिखाए।

*एकांगी मार्ग की व्यवस्था भी ठप, नही दिख रहा क्या जनाब*

महानगरों के नक्शे कदम पर कुक्षी जैसे आदिवासी बाहुल्य ग्रामीण क्षेत्र में एसडीएम रिशव गुप्ता ने एकांगी मार्ग थोपने का प्रयास फोटो छाप समाजसेवियों के साथ मिलकर किया था। जिसमे स्कूली छात्र-छात्राओं द्वारा चिलचिलाती धूप में भी नियम समझाकर यातायात का पाठ पढ़ाया गया। लेकिन जब समाजसेवियों को चोराहे पर खड़ा रहने की बारी आई तो पहले ही दिन फोटो छपवा कर गायब हो गए। एकांगी मार्ग की व्यवस्था भी फ्लॉप ओर अधिकारी के साथ समाजसेवी भी फ्लॉप।

*अंत में…*

अब देखते है आगे कोनसा अधूरा काम छोड़ने के लिए नया काम शुरू करते है एसडीएम ! ओके चलते है फिर मिलेंगे अतिशीघ्र नई उम्मीद के साथ…

*इसीलिए कहते है कि…किसी से ऐसी कभी कोई उम्मीद मत करना, क्योंकि उम्मीद हमेशा दर्द देती है*

LEAVE A REPLY